लखनऊ केशव प्रसाद ने सपा को बताया सांपनाथ तो कांग्रेस को नागनाथ, बोले- विपक्ष हमारे मनोबल के आगे नहीं टिक सकता मुंबई महाराष्ट्र की राजनीति में हलचल तेज, Ajit गुट के नेता ने की शरद पवार से मुलाकात जम्मू अमरनाथ धाम के लिए श्रद्धालुओं में गजब का उत्साह, 18वें जत्थे में इतने भक्त हुए रवाना नाहन नशे के खिलाफ सिरमौर पुलिस का एक्‍शन, एक परिवार के तीन लोग गिरफ्तार; भारी मात्रा में नशा और नकदी बरामद पटना मंत्री जी तो बहुत कुछ बोल गए, अब कैसे डिफेंड करेंगे नीतीश कुमार? फ्रंटफुट पर आई RJD बदायूं कमरे में फंदे पर लटके मिले दंपती के शव, बड़ा भाई पत्नी सहित फरार; मायका पक्ष ने लगाया हत्या का आरोप नई दिल्ली। गलवान में चीनी सैनिकों से झड़प के बाद निभाई थी अहम भूमिका, अब संभाला विदेश सचिव का जिम्मा; आखिर क्यों खास है विक्रम मिसरी की नियुक्ति
EPaper SignIn
लखनऊ - केशव प्रसाद ने सपा को बताया सांपनाथ तो कांग्रेस को नागनाथ, बोले- विपक्ष हमारे मनोबल के आगे नहीं टिक सकता     मुंबई - महाराष्ट्र की राजनीति में हलचल तेज, Ajit गुट के नेता ने की शरद पवार से मुलाकात     जम्मू - अमरनाथ धाम के लिए श्रद्धालुओं में गजब का उत्साह, 18वें जत्थे में इतने भक्त हुए रवाना     नाहन - नशे के खिलाफ सिरमौर पुलिस का एक्‍शन, एक परिवार के तीन लोग गिरफ्तार; भारी मात्रा में नशा और नकदी बरामद     पटना - मंत्री जी तो बहुत कुछ बोल गए, अब कैसे डिफेंड करेंगे नीतीश कुमार? फ्रंटफुट पर आई RJD     बदायूं - कमरे में फंदे पर लटके मिले दंपती के शव, बड़ा भाई पत्नी सहित फरार; मायका पक्ष ने लगाया हत्या का आरोप     नई दिल्ली। - गलवान में चीनी सैनिकों से झड़प के बाद निभाई थी अहम भूमिका, अब संभाला विदेश सचिव का जिम्मा; आखिर क्यों खास है विक्रम मिसरी की नियुक्ति    

ग्वालियर में PHE विभाग में हुए 85 करोड़ घोटाला मामले में मिले सुराग, 70 से ज्यादा लोगों पर होगी FIR
  • 151172570 - SAHAB SINGH KUSHWAH 0



मध्य प्रदेश के ग्वालियर में PHE विभाग में हुए लगभग 85 करोड़ घोटाला मामले में जांच कर रही क्राइम ब्रांच को अहम सुराग हाथ लगे हैं। क्राइम ब्रांच अब घोटाले से जुड़े संदिग्ध कर्मचारियों से पूछताछ कर रही है। अब तक इस मामले में PHE के दो EE सहित 6 लोगों की गिरफ्तारी हो चुकी है। संभावना है, इस घोटाले से जुड़े 70 से ज्यादा लोगों पर क्राइम ब्रांच जल्द FIR करने वाली है।ग्वालियर शहर में PHE विभाग के खंड क्रमांक 01 साल 2018-19 से 2023-24 के बीच 18 करोड़ 92 लाख के फर्जी तरीके से भुगतान का मामला 27 जुलाई 2023 को पकड़ में आया था। इसकी जांच PHE और ट्रेजरी (वित्त विभाग) की टीम कर रही है। जांच में 81 बैंक एकाउंट से 65 खातेदार और 9 अधिकारी-कर्मचारियों को भुगतान करने का खुलासा होने के बाद 74 लोगों पर कार्रवाई के लिए पुलिस को सूची सौंपी जा चुकी है। अब जांच को आगे बढ़ाया गया है। यानी 2011-12 में हुए भुगतान की भी जांच शुरू हो गई है। आशंका है कि घोटाला 84 करोड़ 92 लाख तक पहुंच सकता है। वहीं भष्ट्राचार निवारण अधिनियम के तहत प्रकरण दर्ज होने पर पुलिस को 2018-19 से 2023-24 के बीच के बिल की कॉपी, स्वीकृति आदेश और फर्म की डिटेल की जरूरत है। इसके लिए क्राइम ब्रांच की टीम रोज PHE के दफ्तर पहुंच रही है, लेकिन क्राइम ब्रांच को घोटाले से जुड़े दस्तावेज PHE विभाग से 11 महीने बाद भी नहीं मिल पाए हैं।

 

बहरहाल ग्वालियर क्राइम ब्रांच की जांच में PHE में अलग-अलग तरह के आयटम सप्लाई करने वाली 25 फर्म और 45 खातेदार और कुछ कर्मचारी के नाम सामने आए हैं। घोटाले में इनकी क्या भूमिका रही है, जांच के बाद इनके खिलाफ FIR जल्द दर्ज हो सकती है। वहीं संयुक्त संचालक वित्त ने अंतिम रिपोर्ट तैयार कर ली है और यह अंतिम रिपोर्ट अगले एक सप्ताह में वरिष्ठ अफसरों को सौंप दी जाएगी। 

 


Subscriber

173900

No. of Visitors

FastMail

लखनऊ - केशव प्रसाद ने सपा को बताया सांपनाथ तो कांग्रेस को नागनाथ, बोले- विपक्ष हमारे मनोबल के आगे नहीं टिक सकता     मुंबई - महाराष्ट्र की राजनीति में हलचल तेज, Ajit गुट के नेता ने की शरद पवार से मुलाकात     जम्मू - अमरनाथ धाम के लिए श्रद्धालुओं में गजब का उत्साह, 18वें जत्थे में इतने भक्त हुए रवाना     नाहन - नशे के खिलाफ सिरमौर पुलिस का एक्‍शन, एक परिवार के तीन लोग गिरफ्तार; भारी मात्रा में नशा और नकदी बरामद     पटना - मंत्री जी तो बहुत कुछ बोल गए, अब कैसे डिफेंड करेंगे नीतीश कुमार? फ्रंटफुट पर आई RJD     बदायूं - कमरे में फंदे पर लटके मिले दंपती के शव, बड़ा भाई पत्नी सहित फरार; मायका पक्ष ने लगाया हत्या का आरोप     नई दिल्ली। - गलवान में चीनी सैनिकों से झड़प के बाद निभाई थी अहम भूमिका, अब संभाला विदेश सचिव का जिम्मा; आखिर क्यों खास है विक्रम मिसरी की नियुक्ति