लखनऊ केशव प्रसाद ने सपा को बताया सांपनाथ तो कांग्रेस को नागनाथ, बोले- विपक्ष हमारे मनोबल के आगे नहीं टिक सकता मुंबई महाराष्ट्र की राजनीति में हलचल तेज, Ajit गुट के नेता ने की शरद पवार से मुलाकात जम्मू अमरनाथ धाम के लिए श्रद्धालुओं में गजब का उत्साह, 18वें जत्थे में इतने भक्त हुए रवाना नाहन नशे के खिलाफ सिरमौर पुलिस का एक्‍शन, एक परिवार के तीन लोग गिरफ्तार; भारी मात्रा में नशा और नकदी बरामद पटना मंत्री जी तो बहुत कुछ बोल गए, अब कैसे डिफेंड करेंगे नीतीश कुमार? फ्रंटफुट पर आई RJD बदायूं कमरे में फंदे पर लटके मिले दंपती के शव, बड़ा भाई पत्नी सहित फरार; मायका पक्ष ने लगाया हत्या का आरोप नई दिल्ली। गलवान में चीनी सैनिकों से झड़प के बाद निभाई थी अहम भूमिका, अब संभाला विदेश सचिव का जिम्मा; आखिर क्यों खास है विक्रम मिसरी की नियुक्ति
EPaper SignIn
लखनऊ - केशव प्रसाद ने सपा को बताया सांपनाथ तो कांग्रेस को नागनाथ, बोले- विपक्ष हमारे मनोबल के आगे नहीं टिक सकता     मुंबई - महाराष्ट्र की राजनीति में हलचल तेज, Ajit गुट के नेता ने की शरद पवार से मुलाकात     जम्मू - अमरनाथ धाम के लिए श्रद्धालुओं में गजब का उत्साह, 18वें जत्थे में इतने भक्त हुए रवाना     नाहन - नशे के खिलाफ सिरमौर पुलिस का एक्‍शन, एक परिवार के तीन लोग गिरफ्तार; भारी मात्रा में नशा और नकदी बरामद     पटना - मंत्री जी तो बहुत कुछ बोल गए, अब कैसे डिफेंड करेंगे नीतीश कुमार? फ्रंटफुट पर आई RJD     बदायूं - कमरे में फंदे पर लटके मिले दंपती के शव, बड़ा भाई पत्नी सहित फरार; मायका पक्ष ने लगाया हत्या का आरोप     नई दिल्ली। - गलवान में चीनी सैनिकों से झड़प के बाद निभाई थी अहम भूमिका, अब संभाला विदेश सचिव का जिम्मा; आखिर क्यों खास है विक्रम मिसरी की नियुक्ति    

श्रीमद् भागवत कथा का सरस कथा वाचक डॉक्टर राजेश्वरी देवी के मुखारविंद
  • 151171363 - SATISH SHARMA 0



भिंड । दबोहा में श्रीमद् भागवत कथा का दूसरा दिन है जिसमें सरस कथा वाचक डॉक्टर राजेश्वरी देवी के मुखारविंद से बड़ी माता धाम पर चल रही है। भागवत कथा को सभी सुनते हैं परंतु भागवत कथा क्यों कही जाती है उसका वर्णन किया गया है। नदी किनारे एक ब्राह्मण का घर था जिसका नाम आत्मदेव था आत्मदेव को सभी चारों वेदों का ज्ञान था अगर आप ध्यान से पर पूर्ण हो गए हो और आप ज्ञानी बन गए हो तो प्रेम आना बहुत जरूरी है यानी आपको अहंकार बनता है रावण को अहंकार हो गया था जो जितना बड़ा संत होगा वह कहता है हमें सुनना मत अरे प्रेम का रास्ता इतना सहज है और ज्ञान के कारण वह भगवान को पा लेता है आत्मा देवी की जय पूरी नहीं हुई संत का हृदय बिल्कुल शांत रहता है तुम अपने जीवन में कितना भी अच्छा काम करो कि भगवान आपके अपने हो जाए क्योंकि भगवान में कोई भेदभाव नहीं होता है इसका चिंतन करना चाहिए आत्मदेव यह पुत्र का नाम धुंधकारी हुआ और उसका नाम गोकर्ण हुआ हम सभी धुंधकारी हैं कि हम अपने मां से भगवान की कथा में कटौती करते हैं अगर हमारे पंडित के अंदर तीन गुण होना चाहिए मात्र व्रत की पर सभी को सभी मानों को अपनी मां समझना चाहिए दूसरे के धन पर अपनी दृष्टि न जाए दूसरे के धन को अपना नहीं समझना चाहिए धुंधकारी दूसरों के घर में वेश्याओं के साथ वेश्यावृत्ति करता था धुंधकारी पांच बेसियाओ वह अपने घर लाया इसका मतलब वह पांच इंद्रियों पर अपना अंकुश नहीं लग पाया यह संसार कैसा है जिसका कोई कर ना हो उसे हम संसार कहते हैं संसार में दुख का कारण है कि आपको मोह हो जाता है रिपोर्ट - सतीश शर्मा की रिपोर्ट 151171363

 


Subscriber

173900

No. of Visitors

FastMail

लखनऊ - केशव प्रसाद ने सपा को बताया सांपनाथ तो कांग्रेस को नागनाथ, बोले- विपक्ष हमारे मनोबल के आगे नहीं टिक सकता     मुंबई - महाराष्ट्र की राजनीति में हलचल तेज, Ajit गुट के नेता ने की शरद पवार से मुलाकात     जम्मू - अमरनाथ धाम के लिए श्रद्धालुओं में गजब का उत्साह, 18वें जत्थे में इतने भक्त हुए रवाना     नाहन - नशे के खिलाफ सिरमौर पुलिस का एक्‍शन, एक परिवार के तीन लोग गिरफ्तार; भारी मात्रा में नशा और नकदी बरामद     पटना - मंत्री जी तो बहुत कुछ बोल गए, अब कैसे डिफेंड करेंगे नीतीश कुमार? फ्रंटफुट पर आई RJD     बदायूं - कमरे में फंदे पर लटके मिले दंपती के शव, बड़ा भाई पत्नी सहित फरार; मायका पक्ष ने लगाया हत्या का आरोप     नई दिल्ली। - गलवान में चीनी सैनिकों से झड़प के बाद निभाई थी अहम भूमिका, अब संभाला विदेश सचिव का जिम्मा; आखिर क्यों खास है विक्रम मिसरी की नियुक्ति