लखनऊ केशव प्रसाद ने सपा को बताया सांपनाथ तो कांग्रेस को नागनाथ, बोले- विपक्ष हमारे मनोबल के आगे नहीं टिक सकता मुंबई महाराष्ट्र की राजनीति में हलचल तेज, Ajit गुट के नेता ने की शरद पवार से मुलाकात जम्मू अमरनाथ धाम के लिए श्रद्धालुओं में गजब का उत्साह, 18वें जत्थे में इतने भक्त हुए रवाना नाहन नशे के खिलाफ सिरमौर पुलिस का एक्‍शन, एक परिवार के तीन लोग गिरफ्तार; भारी मात्रा में नशा और नकदी बरामद पटना मंत्री जी तो बहुत कुछ बोल गए, अब कैसे डिफेंड करेंगे नीतीश कुमार? फ्रंटफुट पर आई RJD बदायूं कमरे में फंदे पर लटके मिले दंपती के शव, बड़ा भाई पत्नी सहित फरार; मायका पक्ष ने लगाया हत्या का आरोप नई दिल्ली। गलवान में चीनी सैनिकों से झड़प के बाद निभाई थी अहम भूमिका, अब संभाला विदेश सचिव का जिम्मा; आखिर क्यों खास है विक्रम मिसरी की नियुक्ति
EPaper SignIn
लखनऊ - केशव प्रसाद ने सपा को बताया सांपनाथ तो कांग्रेस को नागनाथ, बोले- विपक्ष हमारे मनोबल के आगे नहीं टिक सकता     मुंबई - महाराष्ट्र की राजनीति में हलचल तेज, Ajit गुट के नेता ने की शरद पवार से मुलाकात     जम्मू - अमरनाथ धाम के लिए श्रद्धालुओं में गजब का उत्साह, 18वें जत्थे में इतने भक्त हुए रवाना     नाहन - नशे के खिलाफ सिरमौर पुलिस का एक्‍शन, एक परिवार के तीन लोग गिरफ्तार; भारी मात्रा में नशा और नकदी बरामद     पटना - मंत्री जी तो बहुत कुछ बोल गए, अब कैसे डिफेंड करेंगे नीतीश कुमार? फ्रंटफुट पर आई RJD     बदायूं - कमरे में फंदे पर लटके मिले दंपती के शव, बड़ा भाई पत्नी सहित फरार; मायका पक्ष ने लगाया हत्या का आरोप     नई दिल्ली। - गलवान में चीनी सैनिकों से झड़प के बाद निभाई थी अहम भूमिका, अब संभाला विदेश सचिव का जिम्मा; आखिर क्यों खास है विक्रम मिसरी की नियुक्ति    

जहरीला यूरिया तो नहीं पी रहे आप? FSSAI ने बताया 5 मिनट में ऐसे पता करें दूध असली है या नकली
  • 151173107 - YATENDRA KUMAR SINGHAL 0



रुदावल:हर घर में रोजाना दूध का इस्तेमाल किया जाता है। दूध को एक संपूर्ण आहार माना जाता है। दूध में प्रोटीन, कैल्शियम, विटामिन और मिनरल्स जैसे कई पोषक तत्व होते हैं जो शरीर को स्वस्थ रखने के लिए जरूरी हैं।

दूध पीने के क्या फायदे हैं? बेशक एक लीटर दूध की कीमत बढ़कर 73 रुपये तक जा पहुंची है लेकिन आपको दूध पीना नहीं छोड़ना चाहिए क्योंकि इसके सेवन से सेहत को कई फायदे मिलते हैं। रोजाना दूध पीने से दांत-हड्डियों को मजबूत बनाने, मसल्स को मजबूत बनाने, वजन घटाने, बीपी कंट्रोल रखने, दिल को स्वस्थ रखने, इम्यून सिस्टम मजबूत बनाने आदि में मदद मिलती है। रुदावल 

समस्या यह है कि आजकल प्योर दूध मिलना मुश्किल हो गया है। दूध में मिलावट की जा रही है। दूध में यूरिया जैसी खतरनाक चीजों को मिलाया जा रहा है। जाहिर है नकली दूध पीने से सेहत को गंभीर नुकसान हो सकते हैं। देश में खाने-पीने की चीजों की क्वालिटी की जांच करने वाली संस्था भारतीय खाद्य संरक्षा एवं मानक प्राधिकरण (FSSAI) ने एक तरीका बताया जिससे आप असली-नकली दूध की जांच कर सकते हैं।

दूध में यूरिया मिलावट का मतलब है दूध में यूरिया नामक नाइट्रोजन युक्त पदार्थ को मिलाना। ये मिलावट दूध में प्रोटीन की मात्रा को ज्यादा बताने के लिए की जाती है। हैरानी की बात यह है कि यह काम इतनी बारीकी से किया जाता है कि असली दूध की पहचान मुश्किल हो जाती है।

दूध में यूरिया मिलाने का मुख्य कारण आर्थिक लाभ है। यूरिया मिलाने से दूध कारोबारी दूध में नाइट्रोजन की मात्रा बढ़ा सकते हैं, जिसे अक्सर प्रोटीन का लेवल बढ़ जाता है। इससे दूध बेचने वाले पानी मिलाकर ज्यादा दूध बेच लेते हैं और बड़ा मुनाफा कमाते हैं। क्योंकि यूरिया मिलाने से प्रोटीन की मात्रा तो जयादा दिखती है, लेकिन असल में दूध की गुणवत्ता कम हो जाती है।

 

यूरिया मिलावट वाला दूध पीने से सेहत को तुरंत नुकसान हो सकता है, जैसे:

मतली और उल्टी: यूरिया पेट की अंदरूनी परत में जलन पैदा कर सकता है, जिससे मितली और उल्टी हो सकती है।

दस्त: यूरिया पाचन तंत्र को खराब कर सकता है, जिससे दस्त और डिहाइड्रेशन हो सकता है।

 

अगर लंबे समय तक यूरिया मिलावट वाला दूध पिया जाए तो इससे सेहत को गंभीर नुकसान हो सकते हैं, जैसे:

किडनी खराब होना: यूरिया शरीर से निकलने वाला एक बेकार पदार्थ है, जिसे किडनी खून से छानकर बाहर निकालती है। यूरिया की ज्यादा मात्रा किडनी पर बोझ डाल सकती है, जिससे किडनी खराब होने का खतरा रहता है।

लिवर खराब होना: लिवर शरीर में कई चीजों को तोड़ता है, जिसमें यूरिया भी शामिल है। ज्यादा यूरिया लिवर को नुकसान पहुंचा सकता है और उसका कामकाज कमजोर हो सकता है।

प्रजनन संबंधी समस्याएं: अध्ययनों से पता चला है कि ज्यादा यूरिया के संपर्क में आने से, खासकर बच्चों और गर्भवती महिलाओं में प्रजनन क्षमता प्रभावित हो सकती है।

दूध में यूरिया मिलावट से किन लोगों को ज्यादा खतरा?

 

यूरिया मिलावट वाले दूध के खतरनाक असर कुछ खास लोगों पर ज्यादा पड़ते हैं, जैसे:

शिशु और बच्चे: उनका शरीर अभी विकास कर रहा होता है, इसलिए दूध में मौजूद जहरीले पदार्थों के प्रति अधिक संवेदनशील होते हैं। साथ ही, उनकी पोषण संबंधी जरूरतों को पूरा करने के लिए भी दूध ही मुख्य आहार होता है।

बुजुर्ग: उनकी किडनी और लिवर पहले से ही कमजोर हो सकते हैं, जिससे यूरिया से होने वाला नुकसान और भी ज्यादा बढ़ जाता है।

गर्भवती महिलाएं: दूध में मौजूद हानिकारक चीजें गर्भवती महिला के साथ-साथ पेट में पल रहे बच्चे को भी प्रभावित कर सकती हैं।

दूध में यूरिया की पहचान कैसे करें

एक टेस्ट ट्यूब में एक चम्मच दूध डालें

इसमें आधा चम्मच सोयाबीन या अरहर दाल का पाउडर डालें

टेस्ट ट्यूब को अच्छी तरह हिलाकर मिक्स कर लें

5 मिनट इंतजार करें

इसमें एक रेड लिटमस पेपर डालें

आधा मिनट इंतजार करें

इसके बाद इसमें से रेड लिटमस पेपर निकाल लें

अगर दूध शुद्ध है, तो लाल लिटमस पेपर का रंग नहीं बदलेगा

अगर रेड लिटमस पेपर का रंग नीला हो गया तो समझ लें कि दूध मी मिलावट है

डिस्क्लेमर: यह लेख केवल सामान्य जानकारी के लिए है। यह किसी भी तरह से किसी दवा या इलाज का विकल्प नहीं हो सकता। ज्यादा जानकारी के लिए हमेशा अपने डॉक्टर से संपर्क करें।

 


Subscriber

173900

No. of Visitors

FastMail

लखनऊ - केशव प्रसाद ने सपा को बताया सांपनाथ तो कांग्रेस को नागनाथ, बोले- विपक्ष हमारे मनोबल के आगे नहीं टिक सकता     मुंबई - महाराष्ट्र की राजनीति में हलचल तेज, Ajit गुट के नेता ने की शरद पवार से मुलाकात     जम्मू - अमरनाथ धाम के लिए श्रद्धालुओं में गजब का उत्साह, 18वें जत्थे में इतने भक्त हुए रवाना     नाहन - नशे के खिलाफ सिरमौर पुलिस का एक्‍शन, एक परिवार के तीन लोग गिरफ्तार; भारी मात्रा में नशा और नकदी बरामद     पटना - मंत्री जी तो बहुत कुछ बोल गए, अब कैसे डिफेंड करेंगे नीतीश कुमार? फ्रंटफुट पर आई RJD     बदायूं - कमरे में फंदे पर लटके मिले दंपती के शव, बड़ा भाई पत्नी सहित फरार; मायका पक्ष ने लगाया हत्या का आरोप     नई दिल्ली। - गलवान में चीनी सैनिकों से झड़प के बाद निभाई थी अहम भूमिका, अब संभाला विदेश सचिव का जिम्मा; आखिर क्यों खास है विक्रम मिसरी की नियुक्ति