EPaper SignIn

विद्युत कटौती से त्राहि त्राहि कर उठी जनता : सरस्वती
  • 151045804 - SHAHANOOR ALI 0



फास्ट न्यूज़ इंडिया उत्तराखंड काशीपुर। वरिष्ठ कांग्रेसी नेता एवं उत्तराखंड कांग्रेस कमेटी के प्रदेश सचिव जितेंद्र सरस्वती ने कहा कि अघोषित विद्युत कटौती से क्षेत्र की जनता त्राहि त्राहि कर रही है । गर्मी के  मौसम में जहां बिजली की सबसे अधिक आवश्यकता होती है, ऐसे में उत्तराखंड पावर कारपोरेशन के द्वारा विद्युत कटौती न्याय संगत नहीं। वरिष्ठ कांग्रेसी नेता व पीसीसी सचिव सरस्वती ने आरोप लगाते हुए कहा कि ऊर्जा प्रदेश में ऊर्जा की कटौती तर्कसंगत नहीं दिखाई देती । ऐसा प्रतीत होता है कि उत्तराखंड सरकार में शीर्ष पर बैठे हुए लोग उत्तराखंड की विद्युत जल परियोजनाओं से उत्पादित बिजली को अन्य प्रदेशों में बेचकर मुनाफे का खेल कर रहे हैं। भारत के सर्वाधिक विद्युत उत्पादक राज्यों में उत्तराखंड का नाम है, बावजूद इसके गर्मी के भयंकर मौसम में विशेष कर तराई के मैदानी इलाकों में जहां तापमान 40 डिग्री से भी अधिक हो रहा है, और इन दोनों धान रोपाई का सीजन भी है, ऐसे में विद्युत विभाग के द्वारा विद्युत कटौती कर जनता पर करारा प्रहार किया जा रहा है। कांग्रेसी नेता सरस्वती ने आक्रोश व्यक्त करते हुए कहा कि सड़कों पर झूलते हुए बिजली के तार विद्युत विभाग की लापरवाही को दर्शाते हैं, जो किसी दुर्घटना का कारण बन सकते हैं । उन्होंने चेतावनी देते हुए कहा कि अघोषित विद्युत कटौती को शीघ्र दूर नहीं किया गया तो कांग्रेसी कार्यकर्ता पावर कॉरपोरेशन विभाग के अधिकारियों का घेराब कर अपना आक्रोश व्यक्त करेंगे। शाहनूर अली स्टेट ब्यूरो चीफ उत्तराखंड 151045804

 


Subscriber

173849

No. of Visitors

FastMail

राउरकेला - ओडिशा में पांचवें चरण के मतदान में जमकर हो रही वोटिंग, धड़ाधड़ पड़ रहे वोट     देहरादून - स्वाति मालीवाल पर मारपीट के मामले पर सीएम धामी ने तोड़ी चुप्पी, आम आदमी पार्टी पर लगाया बड़ा आरोप     सिरसा - आज सिरसा आएंगे यूपी सीएम योगी आदित्यनाथ, BJP उम्मीदवार अशोक तंवर के पक्ष में करेंगे प्रचार     नई दिल्ली - पहले मतदान, फिर छुट्टियों की उड़ान भरेंगे दिल्लीवाले     पटना - पटना में बेखौफ बदमाशों ने अस्पताल संचालक को मारी गोली, CCTV की मदद से बदमाशों को खोज रही पुलिस     नई दिल्ली - कौन है इब्राहिम रईसी जिन्हें कहा जाता था तेहरान का कसाई US ने भी लगा रखा था बैन